बसंत बहार— प्रकृति पर कविता —डी. के. निवातिया

बसंत बहार

बागो में कलियों पे बहार जब आने लगे, खेत-खलिहानों में फसले लहलाने लगे !गुलाबी धुप पर भी निखार जब आने लगे, समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

भोर में रवि की किरण पे आये लाली कोयल कूक रही हो अमवा की डालीपेड़ो पर नई नई कोपले निकलने लगेऔर आँगन में भी गोरैया चहकने लगे समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

बागो में कलियों पे बहार जब आने लगे, खेत-खलिहानों में फसले लहलाने लगे !गुलाबी धुप पर भी निखार जब आने लगे, समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

गुलाब, गेंदा, सूरजमुखी, सरसों आदि के फूलतितलियाँ और भँवरे उनपर मंडराये झूम झूम,फूलों की सुगंध से मादकता का भान होने लगे मनमोहक हो फिजा का आलम गुदगुदाने लगे समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

बागो में कलियों पे बहार जब आने लगे, खेत-खलिहानों में फसले लहलाने लगे !गुलाबी धुप पर भी निखार जब आने लगे, समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

पेडों से पुरानी पत्तियाँ झड़ने लगती हैं उन से कोमल पत्तियों उगने लगती हैंउल्लास -उमंग का आभास होने लगे  बसंत दूत कामदेव भ्रमण करने लगे     समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

बागो में कलियों पे बहार जब आने लगे, खेत-खलिहानों में फसले लहलाने लगे !गुलाबी धुप पर भी निखार जब आने लगे, समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

ब्रज धाम में गोपियाँ नृत्य करने लगे कृष्ण प्रेम डूब राधा रूप वो धरने लगे देखकर ये विहंगम दृश्य राधे – श्याम स्वर्ग से जमीं की और पग धरने लगे समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

बागो में कलियों पे बहार जब आने लगे, खेत-खलिहानों में फसले लहलाने लगे !गुलाबी धुप पर भी निखार जब आने लगे, समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!

!

(डी. के. निवातिया )

Оформить и получить экспресс займ на карту без отказа на любые нужды в день обращения. Взять потребительский кредит онлайн на выгодных условиях в в банке. Получить кредит наличными по паспорту, без справок и поручителей

16 Comments

  1. Shishir "Madhukar" 06/02/2017
    • डी. के. निवातिया 08/02/2017
  2. Meena Bhardwaj 06/02/2017
    • डी. के. निवातिया 08/02/2017
  3. Kajalsoni 06/02/2017
    • डी. के. निवातिया 08/02/2017
  4. babucm 07/02/2017
    • डी. के. निवातिया 08/02/2017
  5. Madhu tiwari 07/02/2017
    • डी. के. निवातिया 08/02/2017
    • डी. के. निवातिया 08/02/2017
  6. Shabnam 08/02/2017
    • डी. के. निवातिया 09/02/2017
  7. अभिषेक कुमार 22/05/2019
    • डी. के. निवातिया 22/05/2019

Leave a Reply