हिंद के वीर तैयार है

**********************************************************

हिंद के वीर इनका सुनहरा जो इतिहास है

शौर्य पराक्रम से लडते देश का विश्‍वास है

घमंड दुश्‍मन का मिटाने तैयार है जवान

युद्ध में निपुण वीरता ही इनका लिबास है

पीठ पर फिर से दुश्‍मन ने किया वो वार

वीर की शहादत से पूरा देश आज उदास है

मत छेडना राग कभी मित्रता और अमन का

भूल जा कश्‍मीर को पूरी ना होनी तेरी आस है

हिंद की सेेना नहींं डरती अब निछावर है प्राण

मिलेगा तुझे जवाब पाक वही तेरा विनास है

अभिषेक शर्मा अभि
**********************************************************

 

abhishek-hind

12 Comments

  1. शीतलेश थुल 21/09/2016
  2. निवातियाँ डी. के. 21/09/2016
  3. babucm 21/09/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 22/09/2016
  5. Dr Swati Gupta 22/09/2016
  6. Kajalsoni 22/09/2016
  7. Meena bhardwaj 22/09/2016
  8. Markand Dave 23/09/2016

Leave a Reply to Markand Dave Cancel reply