कचरा पेटी….सी.एम्. शर्मा (बब्बू) ….

आज तुम…
बहुत चुप्प चुप्प से थे…
पहले की तरह कोई बात नहीं…
कोई गिला…शिकवा…गुस्सा…
कुछ भी नहीं…
दुनिया की बातें जो चुभती थी तेरे दिल में…
कचरा कह निकालते थे सब मुझ पे…

पर आज बिना कुछ कहे…सुने तुम मुझको…
सदा के लिए अलविदा कह निकल गए….
शायद कचरा नहीं रहा मन में तुम्हारे या
बदल दिया मुझको….
\
/सी.एम्. शर्मा (बब्बू) ….

16 Comments

  1. Dr Swati Gupta 05/09/2016
    • babucm 05/09/2016
  2. Kajalsoni 05/09/2016
    • babucm 05/09/2016
      • Kajalsoni 05/09/2016
        • babucm 05/09/2016
    • babucm 05/09/2016
    • babucm 05/09/2016
    • babucm 05/09/2016
  3. निवातियाँ डी. के. 05/09/2016
    • babucm 05/09/2016
  4. Shishir "Madhukar" 05/09/2016
    • babucm 05/09/2016

Leave a Reply