भ्रष्टाचार

बढता ही जायें यह कैसा नफरत जाल है
भ्रष्ट नेताओं से शराफत का बुरा हाल है
इंसानियत को भी किया है अब बदनाम
इंसान ने ओढ ली जैसे जानवर की खाल है

अभिषेक शर्मा अभि

Presentation1

8 Comments

  1. mani 03/09/2016
  2. shrija kumari 03/09/2016
  3. निवातियाँ डी. के. 03/09/2016
  4. Shishir "Madhukar" 04/09/2016
  5. C.m sharma(babbu) 04/09/2016
  6. शीतलेश थुल 04/09/2016
  7. Kajalsoni 04/09/2016

Leave a Reply to shrija kumari Cancel reply