इमान

बिक रहा जालिमों के हाथों इमान है
बदल रही अब अपनी कैसे पहचान है
कैसा जहर फैल गया दुनिया मे मौला
देख कितना बदला अब तेरा इसांन है
अभिषेक शर्मा अभि

ffd

19 Comments

  1. निवातियाँ डी. के. 03/09/2016
  2. शीतलेश थुल 03/09/2016
  3. Shishir "Madhukar" 03/09/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 03/09/2016
  5. Dr Swati Gupta 03/09/2016
  6. mani 03/09/2016
  7. C.m sharma(babbu) 04/09/2016
  8. Kajalsoni 05/09/2016

Leave a Reply