शब्…..सी. एम्. शर्मा (बब्बू) ….

तुम मुझे जब मिले तो लगा ज़िन्दगी मेरी संवर सी गयी….
हर शब् जो काली थी वो चमकती सी सहर बन गयी…
जिस तरह से गए हो अब तुम मेरी ज़िन्दगी से ए बेवफा …
दिल ढूंढें है उसी शब् को जब तेरी मुझ पे थी मेहर बन गई.
\
/सी. एम्. शर्मा (बब्बू)

18 Comments

  1. Bindeshwar prasad sharma 02/09/2016
    • babucm 02/09/2016
    • babucm 02/09/2016
  2. निवातियाँ डी. के. 02/09/2016
    • babucm 02/09/2016
  3. Shishir "Madhukar" 02/09/2016
    • babucm 02/09/2016
  4. Meena bhardwaj 02/09/2016
    • babucm 02/09/2016
  5. mani 02/09/2016
    • babucm 02/09/2016
  6. ALKA 02/09/2016
    • babucm 03/09/2016
  7. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 03/09/2016
    • babucm 03/09/2016
  8. Kajalsoni 04/09/2016
    • babucm 05/09/2016

Leave a Reply