खिलौना…….सी.एम्. शर्मा (बब्बू)….

खुदा तुम भी मतलबी हो सृष्टि का जो बहाना बनाया….
मन बहलाने को अपना उसमें इंसान खिलौना बनाया….

तमाशा देखता हूँ रोज़ ऊंचे लोगों की नीची सोच का…
हर मजबूर की इज्जत को है उन्होंने बिछोना बनाया….

सरेआम मार रहा कोई तो कोई लाशें कंधे पे ढो रहा…
दर्द सीने में दिया होता क्यूँ सब इतना घिनोना बनाया…

आ गए फिर हाथ जोड़ मुस्कुराते हुवे सफ़ेद वस्त्र में…
जनता को ५ साल अपने हाथों जिन्होंने खिलौना बनाया….

ये दिल अब किसी पे यहाँ यकीन करे भी तो कैसे करे…
जिस पर था ऐतबार जब उसी ने हमको निशाना बनाया…

जब चाहा खेले दिल से तुम जब चाहा तब तोड़ दिया….
खुदा ही निकले तुम भी जो “बब्बू” को खिलौना बनाया…
\
/सी.एम्. शर्मा (बब्बू)….

20 Comments

  1. Bindeshwar prasad sharma (bindu) 31/08/2016
    • babucm 01/09/2016
    • babucm 01/09/2016
    • babucm 01/09/2016
  2. mani 31/08/2016
    • babucm 01/09/2016
    • babucm 01/09/2016
  3. कुशवाह विकास 31/08/2016
    • babucm 01/09/2016
  4. Shishir "Madhukar" 31/08/2016
    • babucm 01/09/2016
  5. निवातियाँ डी. के. 31/08/2016
    • babucm 01/09/2016
  6. MANOJ KUMAR 01/09/2016
    • babucm 01/09/2016
  7. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 01/09/2016
    • babucm 01/09/2016
  8. Kajalsoni 05/09/2016
    • babucm 05/09/2016

Leave a Reply