हाल ऐ जिंदगी………..मनिंदर सिंह “मनी”

मेरी आँखों में अश्को का तूफान सा उमड़ता है,
जब कोई हाल ऐ जिंदगी पूछता शख्स मिलता है,,

हर दर्द को ढक लिया मैंने मुस्कुराहट के पर्दे में,
आह उठती है तेरा जिक्र दिल जब मुझसे करता है,,

तुझे तेरी ख्वाहिशो ने भुला दी अपनी ही हर कसम,
मेरा उन्ही वादों की यादों के सहारे दिन गुजरता है,,

कभी ना कभी तो मेरी यादों के फेरे तुझे सताते होंगे,
ये सोच मेरे जेहन में प्रश्नों का कारवाँ सा निकालता है

लगता है मिल गए तुझे मुझसे ज्यादा चाहने वाले “मनी”
इसीलिए तो ख़्वाबो में भी तू मुझे अब नहीं मिलता है,,

17 Comments

  1. निवातियाँ डी. के. 31/08/2016
    • mani 31/08/2016
    • mani 31/08/2016
  2. Shishir "Madhukar" 31/08/2016
    • mani 31/08/2016
  3. babucm 31/08/2016
    • mani 31/08/2016
  4. Bindeshwar prasad sharma (bindu) 31/08/2016
  5. mani 31/08/2016
  6. Swati 01/09/2016
    • mani 01/09/2016
  7. MANOJ KUMAR 01/09/2016
    • mani 01/09/2016
  8. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 01/09/2016
    • mani 01/09/2016

Leave a Reply