दृष्टिकोण

चाँद जब पूनम का होता है तो सागर भी पाने को लपकता है,
धरा के करवट से रात होती है सूरज तो हर समय चमकता है,
अपनी ही निगाह से देखना चाहते हैं हम सब दुनिया सारी,
सही दृष्टिकोण रखने पर ही सही-गलत का पता चलता है ।

विजय कुमार सिंह
vijaykumarsinghblog.wordpress.com

14 Comments

  1. mani 20/08/2016
  2. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 20/08/2016
  3. C.m sharma(babbu) 20/08/2016
  4. Meena bhardwaj 21/08/2016
  5. Shishir "Madhukar" 21/08/2016
  6. Dr Swati Gupta 21/08/2016
  7. शीतलेश थुल 21/08/2016

Leave a Reply