रक्षाबंधन का दिन – शिशिर मधुकर

रक्षाबंधन का दिन हैं और राखी बँधवाने जाना हैं
बहन तक पहुँचने को मगर जामो से पार पाना हैं
कितनी भी मुश्किलें आए हम भारत के वासी हैं
इन्हीं कठिनाइयों में हमको खुशियों को मनाना हैं

शिशिर मधुकर

10 Comments

  1. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 18/08/2016
    • Shishir "Madhukar" 19/08/2016
  2. Meena bhardwaj 18/08/2016
    • Shishir "Madhukar" 19/08/2016
  3. babucm 19/08/2016
    • Shishir "Madhukar" 19/08/2016
  4. Shishir "Madhukar" 19/08/2016
  5. sarvajit singh 19/08/2016
    • Shishir "Madhukar" 19/08/2016

Leave a Reply