साक्षी देश की बेटी…….मनिंदर सिंह “मनी”

देख साक्षी को,
आज सारे देश में,
किसी को बेटी,
किसी को बहन,
याद गयी,
ला दिखलाया जिसने मैडल,
ओलम्पिक में,
अखबारों की सुर्खियों में,
मान बन छा गयी,
जो कर ना सके लड़के,
वो एक लड़की ने कर दिखाया,
एक पदक के लिए जूझ रहा,
था सारा देश,
उस पदक को झोली में,
एक बेटी ने डाल दिखलाया,
मेरा शत शत प्रणाम ऐसी,
बेटी को जिसने देश को,
इतना सम्मान दिलवाया,
सोचिये अगर मार दिया होता,
इस बेटी को पेट में,
तो मैडल, ये मान सम्मान,
कहाँ मिलना था,
और शत शत प्रणाम,
ऐसी बेटी के माँ-पिता को,
जिन्होंने बेटी को आगे,
बढ़ने का राह दिखलाया,
बेटियां नहीं बुरी,
हमारी सोच गलत है,
इसे बदलना होगा,
लड़का लड़की एक सामान,
बातों में ही नहीं,
इसे हकीकत में लाना होगा,
एक औरत को औरत का,
साथ निभाना होगा,
वंश को बढ़ाने के पीछे,
कोख में लड़की को,
मारने से बचना होगा,
एक बार फिर से,
इंकलाब लाना होगा,
ऐ “मनी” चल,
अभी से ही लोगो को,
समझना होगा,,

14 Comments

  1. babucm 18/08/2016
    • mani 19/08/2016
  2. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 18/08/2016
    • mani 19/08/2016
  3. भानु प्रताप 18/08/2016
    • mani 19/08/2016
  4. Meena bhardwaj 18/08/2016
    • mani 19/08/2016
  5. Shishir "Madhukar" 18/08/2016
    • mani 19/08/2016
  6. sarvajit singh 18/08/2016
    • mani 19/08/2016
    • mani 19/08/2016

Leave a Reply