शायरीः सच्ची मोहब्बत

मोहब्बत की कोई कीमत नहीं होती,
इसमें दौलत की कोई अहमियत नहीं होती,
सच्ची मोहब्बत तो आँखों से बयाँ होती है,
इसके लिए किसी इम्तिहाँ की जरूरत नहीं होती ।।
– आनन्द कुमार

9 Comments

  1. babucm 08/08/2016
  2. Shishir "Madhukar" 08/08/2016
    • ANAND KUMAR 08/08/2016
  3. mani 08/08/2016
  4. निवातियाँ डी. के. 08/08/2016
  5. sarvajit singh 08/08/2016
  6. ANAND KUMAR 08/08/2016
  7. Savita Verma 08/08/2016
    • ANAND KUMAR 09/08/2016

Leave a Reply