‘अम्मा को दिखाया’_अरुण कुमार तिवारी

एक दिन अम्मा को दिखाया|

डाक्टर ने सहज होकर,
जवाब दे दिया है,
जैसे वो रोज ही,
कितनों को देता है,
उतनी ही सरलता से,
न कम न ज्यादा,
आज मुझे भी,
शायद उसे नहीं पता,
उसके इस व्यवसायिक जवाब में,
पिघल उठा है,
मेरा बचपन,
मेरे हिस्से का वात्सल्य,
मेरा अस्तित्व,
मेरे हिस्से की ममता,
मेरा जीवन,
मेरा तन मन,
तब न जाने उसकी आँखों में,
कौन सा रंग उतर आया ,

एक दिन अम्मा को दिखाया ।

वो सुन रही थी,
जज्बात धुन रही थी,
कांपते अधरों से मुष्काई,
जैसे कोई अलविदा कहता हो,
चिरकाल के लिए,
लम्बी दूरी के लिए,
तैयार रहता हो।
फिर मुझे उन्ही हाँथो से सहलाया,
ओह! उसका वही स्पर्श,
वही आनन्द!,
खीच ले गया बचपन में,
जब मैं होता था उसकी गोंद में,
दुनिया से बेख़बर,
निज अस्तित्व से इतर।
उसका अंश उसमे विलीन,
मेरा स्वर्ग !
अब सब खत्म!
सब कुछ अभी।
कहाँ से कहाँ आया|

एक दिन अम्मा को दिखाया|

करती रही अंतिम सांस तक,
नज़रों से बारिश ,
स्नेह की,
आशीष की,
मुश्कान की,
मुरझाये पातों से,
निर्झर बूँदें ,
नम,
कोमल,
स्निग्ध,
पावन,
लगातार अविरत,
‘मैं नहीं रह पाऊंगा!,
तेरी छाँव के बगैर,
ये ताप!
ये त्रास!
नहीं सह पाउँगा,
‘मुझे ले चलो माँ!,
मैंने दुहराया|

एक दिन अम्मा को दिखाया|

धीरे धीरे सब की तरह,
मेरी अम्मा तश्वीर हो गयी,
यादों में घिरी,
बस अतीत,
एक सुंदर मीठी नींद,
के सपने की तरह,
चासनी सी मधुर,
चन्दन की सी खुशबू,
अथाह ममता सागर,
उम्मीदों का गागर|
और वात्सल्य की हिलोरें,
किनारे पहुचा मैं,
डूबने को आतुर,
खुद को खड़ा पाया|

एक दिन अम्मा को दिखाया।
एक दिन अम्मा को…..

25 Comments

  1. C.m.sharma(babbu) 05/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 05/08/2016
  2. sarvajit singh 05/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 05/08/2016
  3. Kajalsoni 05/08/2016
  4. अरुण कुमार तिवारी 05/08/2016
  5. निवातियाँ डी. के. 05/08/2016
    • kiran kapur gulati 05/08/2016
      • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016
  6. अभिनय शुक्ला 06/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016
  7. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 06/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016
  8. Shishir "Madhukar" 06/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016
  9. Bindeshwar prasad sharma (bindu) 06/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016
  10. mani 06/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016
    • अरुण कुमार तिवारी 06/08/2016

Leave a Reply