सोलह हो गई उमरिया – गीत

सोलह हो गई उमरिया – गीत

चमके बिजुरिया लचके कमरिया
उडी – उडी जाए मोरी चुनरिया
सोलह हो गई उमरिया
अब जायें तो जायें कहाँ
हाये – अब जायें तो जायें कहाँ

घर से निकली पीछे पड़ गए
सब कहें मुझे रानी
हम तो तेरे दीवाने हैं
हो जा तू भी दीवानी
मुश्किल हो गई हमरी डगरिया
अब जायें तो जायें कहाँ
हाये – अब जायें तो जायें कहाँ

कोई मुझको दिल देता
कोई देता मुझ पे जान
हर तरफ ये शोर है
तू हो जा मेहरबान
ये देख घबराये मोरा जियरा
अब जायें तो जायें कहाँ
हाये – अब जायें तो जायें कहाँ

सोलह साल के हो के
मैं तो बड़ा पछताई
चढ़ती जवानी देख अपनी
मैं थोड़ा शरमाई
किसको दूं मैं दिल की खबरिया
अब जायें तो जायें कहाँ
हाये – अब जायें तो जायें कहाँ

गीतकार : सर्वजीत सिंह
[email protected]

22 Comments

  1. mani 30/07/2016
    • sarvajit singh 30/07/2016
    • sarvajit singh 30/07/2016
  2. babucm 30/07/2016
    • sarvajit singh 30/07/2016
    • sarvajit singh 30/07/2016
  3. RAJEEV GUPTA 30/07/2016
    • sarvajit singh 30/07/2016
  4. निवातियाँ डी. के. 30/07/2016
    • sarvajit singh 30/07/2016
  5. Shishir "Madhukar" 30/07/2016
    • sarvajit singh 30/07/2016
  6. Kajalsoni 30/07/2016
    • sarvajit singh 30/07/2016
  7. Dr Swati Gupta 30/07/2016
    • sarvajit singh 31/07/2016
  8. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 30/07/2016
    • sarvajit singh 31/07/2016
  9. अरुण कुमार तिवारी 30/07/2016
  10. sarvajit singh 31/07/2016

Leave a Reply