दिल लगाना – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

दिल लगाना

हुस्न वालों से दिल लगाने की ख्वाइश
रखते थे हम दिल में ……………………………………
पर मोहब्बत में दिल लगाने के बाद ये जाना
के हर शख्स परेशान सा क्यूँ है …………………………………

शायर : सर्वजीत सिंह
[email protected]

14 Comments

  1. babucm 21/07/2016
    • sarvajit singh 21/07/2016
  2. NAVAL PAL PARBHAKAR 21/07/2016
    • sarvajit singh 21/07/2016
    • sarvajit singh 21/07/2016
  3. mani 21/07/2016
    • sarvajit singh 21/07/2016
    • sarvajit singh 21/07/2016
    • sarvajit singh 21/07/2016
  4. Bindeshwar prasad Sharma (Bindu) 21/07/2016
    • sarvajit singh 21/07/2016

Leave a Reply to विजय कुमार सिंह Cancel reply