मैँ अकेला नहीं……….मनिंदर सिंह “मनी”

कारवां साथ है, मैँ अकेला नहीं,
सारी दुनिया चुप, मैँ अकेला नहीं,
लहूलुहान तड़पता सड़क पर पड़े को,
देख छोड़ने वालो में, मैँ अकेला नहीं,
सरे-आम बीच सड़क किसी लड़की को,
छेड़ने वालो में, मैँ अकेला नहीं,
अपने पालनहार को बोझ समझ,
घर से निकालने वाला, मैँ अकेला नहीं,
ख्वाहिशो को बेढंगे तरीकों से,
पूरा करने वाला, मैँ अकेला नहीं,
काम जल्दी करवाने के लिए,
रिश्वत देने वाला, मैँ अकेला नहीं,
स्कूल में गैर हाजिर रह, घर पर,
टूशन पढ़ाने वाला, मैँ अकेला नहीं,
उसके पास ज्यादा, मेरे पास कम क्यों ?
सोच ले जीने वाला, मैँ अकेला नहीं,
मजार पर चादर, हर रोज शिलाओं पर,
दूध चढ़ाने वालो में, मैँ अकेला नहीं,
मतलब के लिए रिश्तों की साँझ,
डालने वाला, मैँ अकेला नहीं
अत्याचार, बेईमानी, कालाबाजारी पर,
साधने वाला चुप, मैँ अकेला नहीं,
आतंकवाद, बलात्कार के नाम पर,
मोमबतिया जलाने वाला, मैँ अकेला नहीं,
सबको बदलना होगा, साथ चलना होगा,
बदल दे दुनिया को “मनी” कोई ऐसा अकेला नहीं,

14 Comments

  1. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 18/07/2016
    • mani 18/07/2016
  2. babucm 18/07/2016
    • mani 18/07/2016
  3. RAJEEV GUPTA 18/07/2016
    • mani 18/07/2016
    • mani 18/07/2016
  4. निवातियाँ डी. के. 18/07/2016
    • mani 18/07/2016
  5. sarvajit singh 18/07/2016
    • mani 19/07/2016
  6. Shishir "Madhukar" 19/07/2016
    • mani 19/07/2016

Leave a Reply to विजय कुमार सिंह Cancel reply