आतंक का भुजंग

आतंक का भुजंग
!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!

कौन है जो बढ़ा रहा आतंक को
कुचल डालो विषधर बिषदंत को
कुंडली कुचक्र का फैला रहा
मुश्किलें इंसान की बढ़ा रहा
डँस रहा है सारे दिग दिगंत को
कुचल डालो ……

धौंस दिखाता सेराजे हिन्द को
चोट दे रहा है हर मानिंद को
मिटा दो बेहुदी बदरंग
इस कलंक को
कुचल डालो …….

पनप रहा प्रेत निज कुकर्म से
मत डरो इस बेहया बेशर्म से
मसल दो चुटकी में
जालिम बहशी बेढंग को
कुचल डालो …….

कौम को बदनाम करता क्रूर ये
अब नहीँ है मौत से दूर ये
बहुत हो गया सहन
दफनादो इस हुडदंग को.

कुचल डालो विषधर विषदंत को !
!
!
डॉ. सी.एल.सिंह

10 Comments

  1. C.m.sharma(babbu) 16/07/2016
    • Dr C L Singh 18/07/2016
  2. Shishir "Madhukar" 17/07/2016
    • Dr C L Singh 18/07/2016
    • Dr C L Singh 18/07/2016
  3. mani 18/07/2016
    • Dr C L Singh 18/07/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 18/07/2016
  5. Dr Chhote Lal Singh 21/07/2016

Leave a Reply