तुझको पाने की कोशिश विफल हो रही। कवि प्रमोद दुबे

तुझको पाने की कोशिश विफल हो रही,
अच्छा होगा की तुझको भरम मान ले।

देख अपनों ने धोका हमे दे दिया,
वक़्त है अब दुनिया को तू जान ले।

मेने माना की प्यार तुझको भी है,
ये समय है कि तू धैर्य से काम ले।

कवि
प्रमोद दुबे

2 Comments

  1. Shishir "Madhukar" 25/06/2016
  2. mani 25/06/2016

Leave a Reply to mani Cancel reply