मिट्टी के घरौंदे…IBN

उसकी हर एक बूँद से पिघलते
देखा है मैने मिट्टी के उन घरौंदों को…
जिस बरसात की आरज़ू पत्थरों के
महल हर रोज किया करते हैं…..

…इंदर भोले नाथ…
http://merealfaazinder.blogspot.in/

6 Comments

  1. babucm 21/06/2016
  2. Shishir "Madhukar" 21/06/2016
  3. mani 21/06/2016
  4. निवातियाँ डी. के. 21/06/2016
  5. Inder Bhole Nath 21/06/2016

Leave a Reply