अदा …………..


जाकर कह दो उनसे ,
अपनी अदाओं पे इतना ना इतराया करे………!
ये जिस्म की रवानी है,
ढल जानी है, फिजूल में वक़्त ना जाया करे ….!!
!
!
!
डी. के. निवातियाँ [email protected]

13 Comments

    • निवातियाँ डी. के. 18/06/2016
    • निवातियाँ डी. के. 18/06/2016
  1. Shishir "Madhukar" 18/06/2016
    • निवातियाँ डी. के. 18/06/2016
  2. mani 18/06/2016
    • निवातियाँ डी. के. 18/06/2016
  3. C.m.sharma(babbu) 18/06/2016
  4. C.m.sharma(babbu) 18/06/2016
    • निवातियाँ डी. के. 18/06/2016
  5. sarvajit singh 18/06/2016
    • निवातियाँ डी. के. 18/06/2016

Leave a Reply