मन को साफ़ करो -शिशिर मधुकर

इस ज़माने में लोग कुछ यूँ भी काम करते हैं
अपने हाथों से ही अपनों को बदनाम करते हैं.
उनकी आँखों पर जिस रंग का असर होता है
वैसी मूरत ही वो इंसा नज़रों में सदा ढ़ोता है
सच अगर देखना चाहो तो मन को साफ़ करो
ईर्ष्या छोड़ दो और ना गैरों पर विश्वास करो
जिंदगी नहीं तो बस एक नर्क सी बन जाएगी
चाह कर भी जहाँ बहारें कभी ना मुस्कुराएंगी.

शिशिर मधुकर

11 Comments

  1. निवातियाँ डी. के. 14/06/2016
    • Shishir "Madhukar" 14/06/2016
    • Shishir "Madhukar" 14/06/2016
  2. विजय कुमार सिंह 14/06/2016
  3. Shishir "Madhukar" 14/06/2016
  4. Shyam tiwari 15/06/2016
  5. Shishir "Madhukar" 15/06/2016
  6. babucm 15/06/2016
  7. Shishir "Madhukar" 15/06/2016
  8. Kishore Kumar 05/07/2016

Leave a Reply