फूलों की सीख

A lesson by flower..
फूल सभी को भाते हैं और कांटे दर्द दे जाते हैं।
इसलिए फूलों की इच्छा रखने वाले काँटो को दूर हटाते हैं।
हम नादान ये समझ नहीं पाते है।
काँटे ही फूलों का सहारा बन जाते हैं।
कोई अस्तित्व न होता फूलों का, अगर काँटे साथ न होते।
इसी तरह अगर दुःख का पता न होता,
सुख का अनुभव कैसे कर पाते।
एक सिक्के के दो है पहलू ।
जब दुःख निराशा लेकर आता है।
उसके बाद का सुख फिर सबको भाता है।
खुशबू लेनी है फूलों की तो काँटो को भी सहना सीखो।
खुशियां लेनी है जीवन में सुख की।
तो दुःख से डटकर लड़ना सीखो।
यही सन्देश फूल हम सबको काँटे सहकर समझाकर जाता है।
और जिसने इसपर अमल किया वो जीवन की हर खुशियां पाता है।

By:Dr Swati Gupta

11 Comments

  1. mani786inder 17/05/2016
    • Dr Swati Gupta 18/05/2016
  2. babucm 17/05/2016
    • Dr Swati Gupta 18/05/2016
  3. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 17/05/2016
    • Dr Swati Gupta 18/05/2016
  4. Rajeev Gupta 17/05/2016
    • Dr Swati Gupta 18/05/2016
  5. निवातियाँ डी. के. 17/05/2016
    • Dr Swati Gupta 18/05/2016
  6. DR RAHUL SHUKLA 26/02/2020

Leave a Reply