गरीब

सुनता कौन है यहाँ गरीब की,
कोई जला गया आशियाने,
महजब के नाम पर,
कोई रुला गया आसु,
सियासत के नाम पर,
कोई शामिल हो गया गम में,
वोट के नाम पर,
हम भूख से तड़पते,
वो मुस्कुराते रहे हर जाम पर,
खुदा भी झुक गया आज उनके आगे,
वो है जिस मुकाम पर,
कोई लूट लेता दुकानदार,
राशन के नाम पर,
क्या मिलता है कड़ी मशकत के बाद,
मजदूरी के नाम पर,
मिलते नहीं अब वो जो मांगते थे वोट,
शिक्षा,गरीबी, विकास के नाम पर,
पापा चॉक्लेट ले आना, सुनकर रुकते नहीं आसु,
जब कोई “मनी”गरीब निकलता है काम पर,

8 Comments

  1. Shishir "Madhukar" 12/05/2016
    • mani786inder 12/05/2016
  2. निवातियाँ डी. के. 12/05/2016
    • mani786inder 13/05/2016
  3. babucm 13/05/2016
    • mani786inder 13/05/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/05/2016
    • mani786inder 14/05/2016

Leave a Reply to babucm Cancel reply