जय जननी जय माँ….

जय जननी जय माँ….जय जय जननी जय माँ….
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

तेरे प्राण हैं मुझमें बसते…
तेरी ख़ुशी मैं माँ…..
हर पल मेरा तूने संवारा….
कर सुख अपना बलिदान…
माँ कर सुख अपनआ बलिदान….
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

हर इच्छा थी पूरी करती…
कल्प बृक्ष बन माँ….
तन पे कपडे तेरे चीथड़े…
मैं सज धजा था माँ….
मैं सज धजा था माँ….
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

हर चिंता तू मेरी हरति…
गोद में थी जब लेती…
तेरे बाहों के झूले में..
मिले स्वर्ग की हस्ती…
माँ..मिले स्वर्ग की हस्ती…
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

मुख तेरा शीतल आभा निराली…
जैसे दुर्गा शक्ति….
मेरे मन में जोत प्यार की…
तुझ से ही है जलती…
माँ…तुझ से ही है जलती…
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

सूरज चाँद तेरे दो नैना..
दिल में गंगा बहती….
सारे तीरथ चरण तेरे माँ….
जिनपे सृष्टि झुकती…
माँ..जिनपे सृष्टि झुकती…
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

तू ही दुर्गा…तू ही यशोदा…
तू झाँसी…तू मरियम…
हर रूप में शोभा निराली…
तू है सबसे महान….
माँ…तू है सबसे महान….
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

तू ही भक्ति…तू ही शक्ति…
तू ऋद्धि…तू सिद्धि…
गुण गा के तेरे माँ मेरी…
हर तृष्णा मेरी मिटती….
माँ..हर तृष्णा मेरी मिटती…
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

गोद में तेरी खेले आ के…
समय समय के अवतारी…
अहोभाग्य माँ मेरा जिसने…
तुझसे है सूरत पायी…
माँ..तुझसे है सूरत पायी…
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…

“चन्दर” तेरा करे अर्चना…
बिनती सुन लो मेरी…
माँ बिनती सुन लो मेरी…
आशीष दो माँ जन्म जन्म…
तू ही रहे माँ मेरी….
बस तू ही रहे माँ मेरी…

जय जननी जय माँ…जय जय जननी जय माँ…
शत शत तुझे प्रणाम…शत शत तुझे प्रणाम…..
\
/सी.एम.शर्मा (बब्बू)

4 Comments

  1. Meena bhardwaj 08/05/2016
    • babucm 09/05/2016
  2. निवातियाँ डी. के. 09/05/2016
    • babucm 09/05/2016

Leave a Reply to Meena bhardwaj Cancel reply