उजाले

उजाले बेचे नहीं जाते
न ही दान दिए जाते हैं
ये तो समर्पण है
मन की तलहटी से
ह्रदय के शिखर तक
संबंधों की बेल को
पल्लवित करने का
इसीलिए उजाले
वहां जाकर बसते हैं
जहाँ से अक्सर
अहसासों के ..
कारवां निकलते हैं

8 Comments

  1. babucm 26/04/2016
    • rachana 27/04/2016
  2. निवातियाँ डी. के. 26/04/2016
    • rachana 27/04/2016
  3. Shishir "Madhukar" 26/04/2016
    • rachana 27/04/2016
  4. MANOJ KUMAR 27/04/2016
    • rachana 27/04/2016

Leave a Reply