११.एहसान ये तुम ………..|प्रेम गीत|– “मनोज कुमार”

एहसान ये तुम हम पे कर दो
दो प्यार के बोल हमसे कर लो ………………………………….

तेरा होगा बड़ा हमपे ये करम
दिल थोड़ी में जगह हमें दे दो
कब से घूम रहा हूँ में तेरे पीछे
अब बस भी करो अपना हमें लो

एहसान ये तुम हम पे कर दो
दो प्यार के बोल हमसे कर लो ………………

शीशे की तरह दिल साफ़ मेरा
हर समय तुम्हे ये पुकार रहा
तुम बनके ज्योति आ जाओ
मेरा जीवन ज्योतिर्मय कर दो

एहसान ये तुम हम पे कर दो
दो प्यार के बोल हमसे कर लो ………………

मैं डूब गया तेरी आँखों में
तेरे प्यार की मीठी बातों में
तुम आकर गले लगा हमें लो
बस प्यार करो बस प्यार करो

एहसान ये तुम हम पे कर दो
दो प्यार के बोल हमसे कर लो …………….

“मनोज कुमार”

6 Comments

  1. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 23/04/2016
    • MANOJ KUMAR 25/04/2016
  2. निवातियाँ डी. के. 23/04/2016
  3. Saviakna 23/04/2016
    • MANOJ KUMAR 25/04/2016
  4. babucm 25/04/2016

Leave a Reply