भगवान किसके ……..??

भगवान किसके ……..??

मंदिर की सीढ़ियों पर सोता
एक अनाथ बालक,………
पुजारी उत्सुकता में थे !
तीव्रता से आये …..
लात मारकर उठाया बच्चे को
और भगा दिया मंदिर की सीमा के बहार
पास में फूल बेचने वाले से मैंने पूछा…..
पुजारी इतने उतावले और व्यकुल क्यों है .?.
वो असहाय बालक के प्रति इतने क्रूर कैसे हो सकते है…. !
बोला, आज मंत्री जी का दौरा है…. मंदिर भी पधारेंगे,
इसलिए ,.. बस उसी का असर है ..साहेब……!!
मैं, …अभी तक खुद से पूछ रहा हूँ !
क्या भगवान है ……..!
अगर है ……….तो आखिर,
भगवान किसके है ……..??
!
!
!
डी. के. निवातियाँ [email protected]

9 Comments

  1. sarvajit singh 17/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 18/04/2016
  2. Shishir "Madhukar" 17/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 18/04/2016
  3. babucm 18/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 18/04/2016
  4. Meena bhardwaj 19/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 19/04/2016
  5. kiran kapur gulati 17/09/2017

Leave a Reply