वादा करो……… प्रेम गीत : रचनाकार – डी. के. निवातियाँ [email protected]

वादा करो………

फूल और खुशबू की तरह हम, संग रहेंगे सदा ये वादा करो
न होंगे जुदा एक दूजे से कभी, तुम मुझसे आज ये वादा करो !!

बसा लो हमको अपनी साँसों में
टूट न जाये डोर दिल के धागो से
बड़ी मुश्किल से मिलती है जिंदगी
इसे मोहब्ब्त से सजाने का वादा करो

फूल और खुशबू की तरह हम, संग रहेंगे सदा ये वादा करो
न होंगे जुदा एक दूजे से कभी, तुम मुझसे आज ये वादा करो !!

तुम शामिल कर लो मुझे भी उनमे
तुम्हारी मोहब्ब्त में हो रंग जितने
समेट कर मेरे सुख दुःख तुम सारे
जिंदगी रंगीन बनाने का वादा करो

फूल और खुशबू की तरह हम, संग रहेंगे सदा ये वादा करो
न होंगे जुदा एक दूजे से कभी, तुम मुझसे आज ये वादा करो !!

आया था एक मौसम पतझड़ का
लुट गया आशियाना मोहब्ब्त का
इस उजड़ी हुई दिल की दुनिया को
फिर अपने प्यार से बसाने का वादा करो

फूल और खुशबू की तरह हम, संग रहेंगे सदा ये वादा करो
न होंगे जुदा एक दूजे से कभी, तुम मुझसे आज ये वादा करो !!

माना के दुश्मन जमाना प्यार का
फिर भी दिल हुआ दीवाना यार का
दोस्ताने की हर एक महफ़िल को
मेरे दिल में सजाने का वादा करो ….!!

फूल और खुशबू की तरह हम, संग रहेंगे सदा ये वादा करो
न होंगे जुदा एक दूजे से कभी, तुम मुझसे आज ये वादा करो !!

!
!
!
प्रेम गीत : रचनाकार – डी. के. निवातियाँ [email protected]

10 Comments

  1. sarvajit singh 09/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 11/04/2016
  2. Er. Anuj Tiwari"Indwar" 09/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 11/04/2016
  3. Raj Kumar Gupta 09/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 11/04/2016
  4. Shishir "Madhukar" 10/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 11/04/2016
  5. MANOJ KUMAR 11/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 11/04/2016

Leave a Reply