वफ़ा – मेरी शायरी……. बस तेरे लिए

वफ़ा

बेवफ़ाओं की नगरी में रहते हैं हम
वफ़ा की तलाश में ……………..
शायद किसी का दिल बदल जाये
अपनी ये सूरत देख कर …………

शायर : सर्वजीत सिंह
[email protected]

4 Comments

  1. Shishir "Madhukar" 07/04/2016
  2. निवातियाँ डी. के. 07/04/2016
  3. sarvajit singh 07/04/2016

Leave a Reply