दीवाना हुआ मेरा दिल …… (प्रेम गीत )

तेरी वफाओ का, तेरी जफ़ाओं का
तेरी अदाओं का, दीवाना हुआ मेरा दिल ……!!

जब लहराती है तेरी जुल्फे
काली घटा सी छा जाती है
अगर हट जाये उजले चेहरे से
अमावस में चांदनी छा जाती है
देखकर इस रूप को घायल हुआ मेरा दिल …..!

तेरी वफाओ का, तेरी जफ़ाओं का
तेरी अदाओं का, दीवाना हुआ मेरा दिल ……!!

तेरा रूप लेकर रोज़ सूरज आता
हर सुबह नाम तेरा भंवरा गुनगुनाता
तेरे नाम से ही शाम पे नूर आता
लहरों पे चलकर सागर भी उफनाता
इस रूप पे फ़िदा हुई ये रात भी जालिम ………….!!

तेरी वफाओ का, तेरी जफ़ाओं का
तेरी अदाओं का, दीवाना हुआ मेरा दिल ……!!

जब जब मुझे देखकर
तू मंद मंद मुस्काती हो
मेरे दिल की धड़कने को
और तेज़ गति दे जाती हो
कितना सलोना निकला तेरा दिल ये कातिल …………..!

तेरी वफाओ का, तेरी जफ़ाओं का
तेरी अदाओं का, दीवाना हुआ मेरा दिल ……!!

!
!
डी. के. निवातियाँ [email protected]@@

12 Comments

  1. MANOJ KUMAR 05/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 05/04/2016
  2. आमिताभ 'आलेख' 05/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 05/04/2016
  3. Shishir "Madhukar" 05/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 05/04/2016
  4. Kamlesh Sanjida 05/04/2016
    • Kamlesh Sanjida 05/04/2016
      • निवातियाँ डी. के. 05/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 05/04/2016
  5. babucm 08/04/2016
    • निवातियाँ डी. के. 08/04/2016

Leave a Reply