अपने अल्फ़ाज़ों में मोहब्बत बयाँ करता हूँ….

अपने अल्फ़ाज़ों में मोहब्बत बयाँ करता हूँ,

कलम से अपनी मैं सोहबत बयाँ करता हूँ,

मुद्दत हुई, लम्हे जो तेरे साथ कटे थे,

लिख लिख के कागज़ों पे मैं उनको नया करता हूँ।

3 Comments

  1. Shishir "Madhukar" 28/02/2016
    • Vijay yadav 28/02/2016
  2. निवातियाँ डी. के. 29/02/2016

Leave a Reply