यादों में आप अमर रहें -शिशिर “मधुकर”

यह रचना मैंने अपने गुरु श्री एन के शर्मा जी के सम्मान में उनके देहावसान पर श्रद्धांजलि स्वरुप लिखी थी.

छोड़ कर हमको गए हैं आप आज इतनी दूर क्यों
यह दुःख सहने के लिए हम सब हुए मज़बूर क्यों
आपकी सीखों पे चल के अब हम करेंगे हक़ अदा
यादों में आप अमर रहें कोशिश यही होगी सदा .

शिशिर “मधुकर”

6 Comments

  1. Meena bhardwaj 17/02/2016
  2. Shishir "Madhukar" 17/02/2016
  3. Dr. Mobeen Khan 17/02/2016
  4. Shishir "Madhukar" 17/02/2016
  5. निवातियाँ डी. के. 18/02/2016
  6. Shishir "Madhukar" 18/02/2016

Leave a Reply