पापा आप कितने प्यारे

यह मेरी बेटी की पहली कविता है जो उसने अपने पापा पर लिखी है |

पापा आप कितने प्यारे
आपके सामने कुछ नहीं तारे
जब आप मुझे गले से लगाते
दुनिया की हर ख़ुशी मुझे है छूती
कोई दुःख आप ना झेले
वो दुःख मिले मुझे पहले
– अन्नपूर्णा जे.

6 Comments

  1. Shishir "Madhukar" 16/02/2016
    • kajal 17/02/2016
  2. omendra.shukla 16/02/2016
    • kajal 17/02/2016
  3. निवातियाँ डी. के. 16/02/2016
    • kajal 17/02/2016

Leave a Reply to निवातियाँ डी. के. Cancel reply