हिन्दू-मुस्लिम – शिशिर “मधुकर”

हिन्दू मुस्लिम क्यों लड़ते हैं आज समझ में आया है
इनके टूटे रिश्तों पर तो इतिहास की काली छाया है
इस्लामी शासकों के पुरखे इस देश में बाहर से आए थे
उनके शासन में कुछ लोगों ने इस्लामी जीवन अपनाए थे
ईश्वर भक्ति के मार्ग की तो सदा यहाँ आज़ादी थी
इसीलिए तो जनता नए धर्मों को अपनाने की आदी थी
यदि खुलकर हम स्वीकार करें कि एक हमारे पुरखे थे
तब सोच शर्म आएगी हमें क्यों आपस में हम लड़ते थे
मुझको आशा है प्रेम के हाथों तुम सब एक दिन हारोगे
एक खून की संतानों को कब तक आपस में यूँ मारोगे .

शिशिर “मधुकर”

11 Comments

  1. dknivatiya 08/11/2015
  2. Shishir 08/11/2015
  3. Girija 08/11/2015
  4. Shishir 08/11/2015
  5. K K JOSHI 08/11/2015
  6. Shishir 08/11/2015
  7. pankaj charpe 09/11/2015
  8. Rinki Raut 09/11/2015
  9. Bimla Dhillon 09/11/2015
  10. Shishir "Madhukar" 09/11/2015
  11. Shishir 09/11/2015

Leave a Reply