पापा जी

पापा जी आपको जन्म्दिवस की हार्दिक शुभकामनाये,
प्रार्थना करती हू प्रभु से सम्पूर्न हो आपकी सभी कामनाये।

मुस्कराना आपके चेहरे को देता और निखार,
गद्द-गद्द हो जाता है दिल आपका पाकर दुलार।

आपका स्वभाव है इतना मधुर जो मिला देता है दिलो की तार,
तभी तो सभी प्रानी खिचे चले आते आपकी ओर बारम्बार।

लेखनी आपकी है लाजवाब,
जिसका कोई भी ना पा सका है पार,
सुनकर उसे ह्र्द्य हो जाता जार-जार,
और बान्ध लेता है दिलो की गह्रराई का तार।

आपका अन्दाज है सबसे अनोखा,
उसमे सादापन भरपूर रहता जो सबको आपकी ओर लुभाता।

आप है हजारो लाखो मे एक ही,
नजरे आपको देखने को तरसती सभी की,
जुग-जुग जियो आप हजारो साल,
हर श्वास से निकलती है यह आवाज ।

4 Comments

  1. Anuj Tiwari"Indwar" 02/09/2015
    • उर्मिला 02/09/2015
    • उर्मिला 08/09/2015
  2. निवातियाँ डी. के. 02/09/2015

Leave a Reply