हाइकू II तेरा शहर II

तेरा शहर
बेबफाई का घर
भूले डगर

तेरी नज़र
हसीन है छलावा
आठो प्रहर

गलती मेरी
या दिल का तोडना
आदत तेरी

सबक मिला
नहीं भूलेंगे अब
नहीं है गिला

नयन बाण
करते थे पागल
अब आराम

हितेश कुमार शर्मा

5 Comments

  1. Anuj Tiwari 16/07/2015
    • Hitesh Kumar Sharma 16/07/2015
  2. Pawan 16/07/2015
    • Hitesh Kumar Sharma 16/07/2015
  3. nitesh singh 06/09/2015

Leave a Reply