तेरे प्यार में

ये असर है दुआओ का
मेरे आँखों को तेरा दीद हुआ
मेरा दिल तो पहले से घायल था
आज से तेरा मुरीद हुआ

छुप –छुप कर देखना
नसीब में सब के नहीं
जिसे मिली ये दौलत
वोही सूफी फ़क़ीर हुआ

तेरे प्यार में दिल,ऐसा मजबूर हुआ
एक अच्छा इंसान,इस शहर में दीवानों के
नाम से मशहूर हुआ

5 Comments

  1. shakti 02/02/2014
    • Rinki Raut 03/11/2014
  2. सुनील लोहमरोड़ 03/02/2014
  3. BHASKAR ANAND 02/11/2014
    • Rinki Raut 03/11/2014

Leave a Reply