दर्द को दबाने की कोई वजह दे दो

दर्द को दबाने की कोई वजह दे दो,
जिंदगी जीने की कोइ वजह दे दो !!
मेरी सांसों को धडकने की वजह दे दो,
मेरे लबों को हंसी का जहां दे दो!!

 

2 Comments

  1. गुरचरन मेह्ता 04/05/2013

Leave a Reply