शायरी 2-10-21

#
प्यार किया था तुमसे तो क्या आराम करेंगे
घुट घुट जिएंगे सुबहो शाम मरेंगे
पर तू फिक्र न कर हम मिट जायेंगे
पर हरगिज न तुमको बदनाम करेंगे।

#
जिंदगी ने एक चीज सीखा दिया हैं साहब
बिन मतलब कोई किसके साथ नही होता
और जो साथ होते हैं उन्हें भी मैं चेक करता रहता हु
जल्दी से किसी पर अब विश्वास नहीं होता।
#
मत देख यू तीखी नजरो से
मैं तुझ पे मरने वाला हू
हैं आज नई पहचान मगर
कल तेरी मांग भरने वाला हू

#
चमत्कार के भरोसे मत बैठ ए दोस्त
चमत्कार तो हजारों में एक आध होते है
कर्म पर भरोसा हैं मुझको।
जिसके नंबर हर बार होते हैं।

#
नकारा कह कर हमको जो आगे निकल गए थे
वो आज पीछे रह गए हैं
हम आदमी बहुत अच्छे हैं
वो आज ये कसीदे कह रहे हैं ।

#
सहने दे दर्द और तकलीफ सारी मुझको
तेरे लबों पे मुस्कान चाहता हु
जानम हर खुशियां हो तेरे हिस्से
बस मालिक से इतना एहसान चाहता हु

#
हा मेरी हसरत हैं दूर जाने की
और अब बात करना क्या हैं
दिल में ही तेरे जब रह न सका
तो और तेरे पास अब रहना क्या हैं।

#
मेरी हसरत न थी
पर मुझे बदलना पड़ा
तूने भला समझा मुझे
तो भला बनना पड़ा

#
मुसीबत के पहाड़ जब बड़े होते हैं
सगो में एक आध संग सगे होते हैं
और जब उजड़ती हैं दुनिया बिखरते हैं जज्बात
तो सिर्फ मां बाप जीवन साथी संग खड़े होते हैं।

#
चलो इंतजार की लड़ी तोड़ते हैं
जो वहम हैं वो सारी अभी तोड़ते हैं
तुम अपने दिल के सब हाल कहना
हम भी अपनी सारी गिरह खोलते हैं।

#
तुमने क्या सोचा मर जाऊंगा अरे जाओ
थोड़ा कम खाऊंगा थोड़ा कम सोऊंगा
खुश भी थोड़ा कम रह लूंगा
पर जीता रहूंगा वो भी तुम्हारे बगैर

#
नफरत करनी चाहिए तुमसे
फिर भी मैं प्यार करता हु
अरे तुम क्या छोड़ोगे मुझे
जाओ मै तुम्हे आजाद करता हु।

Leave a Reply