समय बीत जाने के बाद

समय बीत जाने के बाद
पछतावे के सिवा कुछ न आता हाथ
कितना भी प्रयत्न कर लो
समय के साथ खेलने वालों
अब रह गए न खाली हाथ
तब समय भी न देता साथ
अब किसका मुंह देखोगे
और किसको दोष दोगे
ये समय है दोस्तों कब तक रोकोगे
बस यूं ही रास्तों पर डालोगे
तब बोलोगे हो गया बड़ा अपराध
चलता अगर समय के साथ
तो न रहता आज खाली हाथ
अब क्या करूं मैं समय बीत जाने के बाद
………………………………………………………….
देवेश दीक्षित

Leave a Reply