अयोध्या की अवधि ।

अयोध्या की अवधी कहां गई
न अंग्रेजीय मा रही न कौने ने हिंदीये मा कही।

बच्चक बच्चा अब तो अंग्रेजी बोलाये
नाप ऊ तराजू पर नाही मोबाइलाए मा तौले।

अम्मा बप्पा कौन कहाय
न काका न काकी बस मम्मी डैडी घरे रहाय।

दादी तो अब बुढ़ाई गईं
काका काकी अंकल आंटी भई

फूफा फूफी कौन जानत हय
बडन के बात अब कौन मानत हय
तुम रहाऊ अपरे घरन मा
चौपर अब कौन जानत हय

मुलाकात कर लैब मोबाईल से हम
नेयोता हकारी या बिहायी जाए कौने दुलारी
मोबाईल से होइजायी मुलाकात हमारी

बच्चन का हम फ़ोन मा गेमवा खिलाइबे
घोड़ा हाथी नाही बीस हज़ार का टचवा दिलाइबे

कौने न झूली झुलवा युवा
न भरी जाई कौने अब कुआं
घर घर पानी पाइप से आवे
घंटा भर थाड़ कौन बतवाए।

Leave a Reply