हिन्दुस्तान…………….देवेश दीक्षित

हिन्दुस्तान हमारा है

जग से ये न्यारा है

हर धर्म के लोग जहां

ऐसा राष्ट्र और कहां

 

हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई

हम सब हैं भाई भाई

प्रेम से मिलें लोग जहां

ऐसा राष्ट्र और कहां

 

मौसम की देखो बहार यहां

सर्दी गर्मी पतझड़ बसंत यहां

ईश्वर की लीला का कमाल जहां

ऐसा राष्ट्र और कहां

 

पुण्यात्मा कई जन्मे यहां

राम और कृष्ण की जन्म भूमि यहां

ऐसी पवित्र भूमि जहां

ऐसा राष्ट्र और कहां

 

हिन्दुस्तान हमारा है

ये अभिमान हमारा है

ऐसी भक्ति हो जहां

ऐसा राष्ट्र और कहां

………………………………………………..

देवेश दीक्षित

Leave a Reply