तुम खूबसूरत हो……………देवेश दीक्षित

तुम खुबसूरत हो

बहुत खूबसूरत हो

आईने में देख कर खुद को

रोज बोला करो

 

आईने से कहो

मुझे यूं ही निहारो

उस में देख कर खुद को

खूबसूरती को निहारो

 

विश्वास खुद ब खुद जाग जाएगा

देवी स्वरूपा हो ज्ञात हो जाएगा

तुम्हारी शक्ति से जग हिल जाएगा

देवों को भी प्रणाम करने आना पड़ जाएगा

 

अपनी शक्ति को पहचानो

देवी रूप को अपने धारो

तुम आज भी अबला नारी हो

ऐसे ख्यालों को नकारो

 

तुम्हारी मर्जी के बिना

हिल नहीं सकता पत्ता

चाहे हाथ में न हो सत्ता

हिला सकती हो किसी का भी तख्ता

 

न कभी मायूस हो

उठो जागो खुद को संभालो

करने हैं बहुत काम तुमको

ऐसे विचारों को विचारो

…………………………………..

देवेश दीक्षित

Leave a Reply