खुद पर रखो विश्वास क्योंकि………………..देवेश दीक्षित

झुकाकर सिर नहीं बैठना होगा

इरादों को मजबूत करके देखो

किस्सों को जिंदगी के समझना होगा

दुनिया है बड़ी अतरंगी देखो

 

तुमको खुद ही संभलना होगा

रीत यही दुनिया की समझो

वक्त ने कुछ सिखाया होगा

उसके निर्देशों को समझो

 

विश्वास ही खुद पर रखना होगा

क्योंकि उद्देश्य यही जिंदगी का समझो

इससे नहीं डगमगाना होगा

एक बार कदम बढ़ा कर देखो

 

ताकत को अपने समझना होगा

विश्वास को ढाल बनाकर देखो

जंग को अपनी खुद लड़ना होगा

ये अरमान जगा कर देखो

 

झुकाकर सिर नहीं बैठना होगा

इरादों को मजबूत करके देखो

किस्सों को जिंदगी के समझना होगा

दुनिया है बड़ी अतरंगी देखो

………………………………………..

देवेश दीक्षित

Leave a Reply