ईद मुबारक – डी के निवातिया

ईद मुबारक

ईद के चांद से गुज़ारिश इतनी है,
ये फ़िजा गुल ऐ गुलज़ार हो जाये !!

दुआओं में मांगा हो जिन्हें आपने,
सुबह सवेरे उनका दीदार हो जाये !!

मिट जाये रंज-ओ-ग़म दुनियां से,
अमन-ओ-चैन की भरमार हो जाये !!

माँगता हूँ फकत दुआओं में इतना
इंसान को इंसान से प्यार हो जाये !!

गर हो जाये कुबूल अर्ज़ मेरी ऐ खुदा,
तो अपना भी ईद का त्योहार हो जाये !!

डी के निवातिया

Leave a Reply