काफी हसरतों से मुद्दतों बाद
मेने तुझ मे मुझकों पाया है
ढूंढा तो खूदा तक था मेने ,
किस्मत कि लकीरों का भी शौक देखो,
मेरा कल में ही कल आया है।

Leave a Reply