कोशिश वोशिश l

तू कोशिश वोशिश क्या करता है,
पहल कि तेरी ओकात नहीं
दिखाता है तू जमाने को
हकीकत मे तुझमें वो बात नहीं।

तू कोशिश वोशिश क्या करता है,
पहल कि तेरी ओकात नहीं।

चला जायेगा तू जमाने मे भी ,
ढूंढ न पायेगा तू सो राहों में भी

वक्त दूबारा न लायेगा,
तेरी मंजिल कि सोगात यही,

तू कोशिश वोशिश क्या करता है,
पहल कि तेरी ओकात नहीं।

Leave a Reply