इतर- मूतूर

तूतर-मूतूर इतर मूतूर
कुत्ते की घोड़े कि लात
गधे भी देखो चले हैं बारात।
हंस चले है कौऐ कि चाल
तूतर-मूतूर इतर मूतूर,
बुढै भी चले ठुमुक ठुमक।

फुफा को भी देखो आई न लाज,
ठुमके मारे देखो कितने आज,
आम्मा भी देखो दोडे आज,
पोते कि देखो चली है बारात।
तूतर-मूतूर इतर मूतूर
भाभी भी देखो गयीं है ठिठुर।

देर रात पहूँची बारात
लडकी लाना है न आसान,
रजाई मे देखू इधर उधर
ठिठूरी मे रात इधर उधर
तूतर-मूतूर इतर मूतूर
चले बारात ठिठूर ठिठूर।

Leave a Reply