शायरी

जब तू मेरे सामने से,
किसी ओर का होकर गुजरा होगा,
हमने भी तूझे देख मुस्कुरा दिया होगा,
तू मत पूछा कर वजह इसकी,
कभी तेरे हमसफर का दौर भी
इस वक्त से गुजरा होगा।

Leave a Reply