सायली (होली)

सायली (होली)

होली
पावन त्योहार
जीवन में लाया
रंगों की
बौछार।
*********

होली
जला देती
अत्याचार, कपट, छल
निष्पाप भक्त
बचाती।
*********

होली
लाई रंग
हों सभी लाल
खेलें पलाश
संग।
*********

होली
देती छेद
ऊँच नीच के
मन से
भेद।
**********

होली
इक्कीस की
कोरोना की तूती
फिर से
बोली।
**********

बासुदेव
रखे चाहना
हिन्दी साहित्य को
होली की
शुभकामना।

*****
1-2-3-2-1 शब्द
*****

बासुदेव अग्रवाल ‘नमन’
तिनसुकिया

Leave a Reply